प्रत्येक व्यक्ति को एक साल में कुल कमाई का इनकम टैक्स भरना होता है, जिसे भारत सरकार द्वारा वार्षिक शुल्क के रूप में लिया जाता है।

एक साल में 2.5 लाख रुपये तक के आय पर शून्य टैक्स भरना होता है।

एक साल में 2.5 लाख से 5 लाख रुपये तक के आय पर कुल आय का 5% भरना होता है।

एक साल में 5 लाख से 7.5 लाख रूपए तक के आय पर कुल आय का 10% भरना होता है।

एक साल में 7.50 लाख से 10 लाख रूपए तक के आय पर कुल आय का 15% भरना होता है।

एक साल में 10 लाख से 12.5 लाख रूपए तक के आय पर कुल आय का 20% भरना होता है।

एक साल में 12.5 लाख से 15 लाख रूपए तक के आय पर कुल आय का 25% भरना होता है।

एक साल में 15 लाख रुपये से अधिक के आय पर कुल आय का 30% भरना होता है।

टैक्‍स सेविंग के लिए 10 सबसे अच्‍छा विकल्प के बारे में जानने के लिए लिंक पर क्लिक करें।